Hindi Diwas Shayari in Hindi 2022

Hindi Diwas Shayari in Hindi: हमारा प्यारा भारत एक ऐसा देश है जहां सबसे अधिक हिंदी बोली जाती है। इसीलिए हिंदी भाषा को विशेष महत्व देने के लिए हिंदी दिवस मनाया जाता है। भारत में हिंदी दिवस मनाने की शुरुआत देश की आजादी के बाद शुरू हुई। हर साल भारत में 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी दिवस का मुख उद्देश्य लोगों को हिंदी भाषा के प्रति जागरूक करना और हिंदी भाषा को विश्व स्तर पर प्रचार करना है

आज इस पोस्ट के जरिए हम आपके लिए लाएं हैं hindi diwas shayri in hindi  जिसे आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों  के साथ शेयर कर हिंदी दिवस का उत्सव मना सकते हैं।

Hindi Diwas 2022: इन्हें भी जरूर पढ़ें

Hindi Diwas Speech in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas Quotes in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas Shayri in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas Poem in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas Eassy in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas Status in Hindiयहां से पढ़ें
Hindi Diwas: हिंदी दिवस कब, क्यों, कैसे, मनाया जाता हैं?यहां से पढ़ें
Happy Engineers Day Shayari Wishes Quotes Hindiयहां से पढ़ें
फ्री में ऑनलाइन पैसा कमाना सीखेयहां से सीखे

Hindi Diwas Shayari in Hindi

Hindi Diwas Shayari in Hindi
Hindi Diwas Shayari in Hindi

अंग्रेजी का कब तक करोंगे गुणगान,
हिंदी भाषा को भी दो बराबर का सम्मान।

हिंदी भाषा नहीं भावों की अभिव्यक्ति है,
यह मातृभूमि पर मर मिटने की भक्ति हैं.

हिंदी है मातृभाषा सभी इसे जरूर अपनाएँ,
अपने बच्चों को हिंदी पढ़ना जरूर सिखाएँ।

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल,
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल.

हिंदी मेरा ईमान हैं, हिंदी मेरी पहचान हैं,
हिंदी हूँ मैं, वतन भी मेरा प्यारा हिन्दुस्तान हैं.

हिन्दुस्तानी हैं हम गर्व करो हिंदी भाषा पर,
सम्मान देना और दिलाना दायित्व हैं हम पर.

एकता ही है देश का बल,
जरूरी है हिंदी का संबल.

अंग्रेजी पढ़ि के जदपि, सब गुन होत प्रवीन,
पर निज भाषा-ज्ञान बिन, रहत हीन के हीन.

आज स्याही से लिख दो तुम अपनी पहचान,
हिंदी हो तुम, हिंदी से सीखो करना प्यार.

हिंदी और हिन्दुस्तान हमारा हैं और हम इसकी शान हैं,
दिल हमारा एक हैं और एक हमारे जान हैं.

14 september hindi diwas

Hindi Diwas Shayari in Hindi
Hindi Diwas Shayari in Hindi

हिन्दी को आगे बढ़ाना है
उन्नति की राह ले जाना है
केवल इक दिन ही नहीं हमने
नित हिन्दी दिवस मनाना है

संस्कृत की एक लाड़ली बेटी है ये हिन्दी
बहनों को साथ लेकर चलती है ये हिन्दी
सुंदर है, मनोरम है, मीठी है, सरल है
ओजस्विनी है और अनूठी है ये हिन्दी

मातृभाषा पर तुम भी इतराओगे,
जिस दिन हिंदी की ताकत समझ जाओगे।

हिंदी में बसी है मेरी जिन्दगी,
उम्र भर करता रहूँगा इसकी बन्दिगी.

माथे पर जो स्थान बिंदी का है,
हर भाषाओ में वही स्थान हिंदी का है.

वही वीर देश का प्यारा है,
हिन्दी ही जिसका नारा है।

जन-जन की आशा हैं हिंदी,
भारत की भाषा हैं हिंदी।
हैप्पी हिंदी दिवस।

हिंदी से हिंदुस्तान हैं,
तभी तो हिंदी हमारी शान हैं।
हैप्पी हिंदी दिवस

हमारी स्वतंत्रता कहाँ तक है,
हमारी हिंदी भाषा जहाँ तक है.
हैप्पी हिंदी दिवस

राष्ट्रभाषा के बिना राष्ट्र गूंगा है।

hindi diwas slogan

हिंदी भाषा से प्यार करते है,
हिंदी भाषा का सम्मान करते है.
हैप्पी हिंदी दिवस.

हिंदी पूरे विश्व का हो गान
हिंदी को बनाये भारत की शान.हैप्पी हिंदी दिवस.

हिन्दी पढ़ना और पढ़ाना हमारा
कर्तव्य है उसे हम सबको अपनाना
है हिंदी दिवस की हार्दिक बधाई.

अपने बच्चों को हिंदी की महत्ता बताये,
ताकि वो भविष्य में हिंदी को अपनाये।
हिंदी दिवस की बधाई.

हिंदी और हिन्दुस्तान हमारा हैं और हम
इसकी शान हैं दिल हमारा एक हैं और
एक हमारी जान हैं। हिंदी दिवस की
हार्दिक शुभकामनाएँ।

जन-जन की आशा हैं हिंदी,
भारत की भाषा हैं हिंदी।
हैप्पी हिंदी दिवस।

हिंदी मेरा ईमान हैं, हिंदी मेरी पहचान हैं,
हिंदी हूँ मैं, वतन भी मेरा प्यारा हिन्दुस्तान हैं

हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

हर साल भारत में 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। आधिकारिक तौर पर पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था।

हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारत में बढ़ती अंग्रेजी के चलन और हिंदी के अनदेखी को रोकने के उद्देश्य से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। जैसा कि हम सब जानते हैं हमारे देश भारत में सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा हिंदी है।

लेकिन वर्तमान समय में भारत में हिंदी भाषा का जो महत्व है कम होता जा रहा है। लोग हिंदी भाषा को उतना महत्व नहीं दे रहे। जितना की इस भाषा को दिया जाना चाहिए। हिंदी भाषा भारत की राष्ट्रभाषा नहीं है, मगर हिंदी भाषा को भारत में लगभग हर जगह समझा और बोला जाता है।

हिंदी दिवस का त्यौहार कैसे मनाया जाता है?

 हिंदी दिवस के दिन लोगों को हिंदी के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग तरीकों से समारोह और सेमिनार का आयोजन किया जाता है।इस दिन स्कूलों में हिंदी कविता प्रतियोगिता हिंदी कवि सम्मेलन और हिंदी भाषा के साहित्यकार जैसे अनेकों समारोह आयोजित किया जाता है। इस दिन सरकारी जगहों पर हिंदी  पुस्तक और हिंदी कविता लिखने वाले बेहतरीन लेखकों को सरकार की तरफ से पुरस्कार दिया जाता है। हिंदी साहित्य से जुड़े विभिन्न लोगों को विभिन्न प्रकार के पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

14 सितंबर को हिंदी दिवस क्यों मनाते हैं?

 महात्मा गांधी ने 14 सितंबर 1918 में इसे जनमानस की भाषा कहते हुए राष्ट्रभाषा बनाने के लिए जोर दिया था। उस वक्त भारतीय संविधान में हिंदी भाषा को केंद्र सरकार की भाषा कही गई थी और हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा दिया गया था। इसके बावजूद भी  लोगों के बीच हिंदी भाषा के उपयोग और इसके इस्तेमाल को लेकर जागरूकता कम होती जा रही थी। आप लोगों ने देखा होगा कि हिंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कई सरकारी कार्यालयों में अंग्रेजी भाषा के जगह पर हिंदी भाषा का उपयोग किया जाता है।

14 सितंबर को कौनसा दिवस मनाया जाता है?

 हर साल भारत में 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है।

हिंदी दिवस की स्थापना कब हुई थी?

14 सितंबर 1946 के दिन संविधान सभा ने देवनागरी लिपि में लिखी हिंदी को भारत की अधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था।  फिर भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 14 सितंबर को ही हिंदी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया। हालांकि आधिकारिक तौर पर पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था।

हिंदी दिवस की शुरुआत किसने की?

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 14 सितंबर 1946 को हिंदी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया। हालांकि आधिकारिक तौर पर पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था।

हमें आशा है कि आज का हमारा यह पोस्ट Hindi Diwas Shayari in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा और साथ ही आपको यह भी समझ आ गया होगा कि हिंदी दिवस कब मनाया जाता है, क्यों मना मनाया जाता है और कैसे मनाया जाता है। अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा तो इसे अपने फ्रेंड्स और फैमिली के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि उनको भी हिंदी दिवस के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके ।