महात्मा गांधी जीवनी (Mahatma Gandhi biography in Hindi) 2021

Mahatma Gandhi biography in Hindi: महात्मा गांधी जी अहिंसा को मानने वाले व्यक्ति थे, उन्होंने अपने जीवन में कई ऐसे कार्य किए हैं ,जिनसे हम सभी को शिक्षा और प्रेरणा मिलती है | महात्मा गांधी जी को राष्ट्रपिता की उपाधि दी गई है इसलिए हम सब उन्हें प्यार से बापू भी कहते हैं| हर साल 2 October को उनका जन्मदिन मनाया जाता है | महात्मा गांधी जी के जन्म दिवस के अवसर पर उनके जीवन का एक छोटा सा (Mahatma Gandhi biography in Hindi) जीवन परिचय हम आपके सामने लाए हैं | 

महात्मा गांधी जीवनी (Mahatma Gandhi biography in Hindi) 

महात्मा गांधी जीवनी Mahatma Gandhi biography in Hindi
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जीवनी Mahatma Gandhi biography in Hindi

महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी(Mohandas Karamchand Gandhi) हैं | गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1896 में गुजरात के पोरबंदर शहर में हुआ था | 

इनके पिता का नाम करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई था | ब्रिटिश हुकूमत के समय इनके पिता पोरबंदर और राजकोट के दीवान थे |

गांधी जी की माता एक धार्मिक महिला थी और शायद यही कारण है कि गांधीजी का सीधा सरल जीवन इनकी मां से प्रेरित था| 

गांधी जी का पालन पोषण  वैष्णव मत को मानने वाले परिवार में हुआ और उनके जीवन पर भारतीय जैन धर्म का गहरा प्रभाव पड़ा जिसके कारण वह सत्य और अहिंसा में अटूट विश्वास रखते थे और  मरते दम तक उसका अनुसरण भी किया |

महात्मा गांधी जी अपने तीनों भाइयों में सबसे छोटे थे | 

महात्मा गांधी की शिक्षा (Mahatma Gandhi education in Hindi)

गांधीजी की प्रारंभिक शिक्षा पूर्व नगर में हुई थी | पोरबंदर में उन्होंने मिडिल स्कूल तक की शिक्षा प्राप्त की,इसके बाद उनके पिता का राजकोट ट्रांसफर हो जाने की वजह से उन्होंने राजकोट से अपनी बची हुई शिक्षा को पूरी की | 

सन  1887 में राजकोट हाई स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा पास की और आगे की पढ़ाई के लिए भावनगर के समलदास कॉलेज में  Admission लिया |  लेकिन घर से दूर रहने के कारण वह अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर पा रहे थे और अस्वस्थ होकर पोरबंदर लौट आए |

4 सितंबर 1888 को इंग्लैंड के लिए रवाना हुए गांधी जी ने लंदन में लंदन वेजीटेरियन सोसायटी की सदस्यता ग्रहण की और इसके कार्यकारी सदस्य बन गए |

गांधीजी लंदन वेजिटेरियन सोसाइटी में भाग लेने लगे और पत्रिका में लेख लिखने लगे | यहां 3 सालों तक रह कर अपने बैरिस्टर की पढ़ाई पूरी की और सन  1891 में वापस भारत आ गए | 

महात्मा गांधी का वैवाहिक जीवन (Married life of Mahatma Gandhi in Hindi)

गांधी जी का  विवाह सन 18 सो 83 में मात्र 13 वर्ष की उम्र में  कस्तूरा  जी से कर दी गई थी | उस समय कस्तूरा जी की उम्र लगभग 14 साल के आसपास थी |

कस्तूरबा गांधी जी को लोग उन्हें प्यार से बा कह कर पुकारते थे | कस्तूरबा गांधी जी के पिता एक धनी  बिजनेसमैन थे | शादी से पहले तक कस्तूरबा पढ़ना लिखना नहीं जानते थे |

लेकिन  शादी के बाद गांधीजी ने उन्हें लिखना पढ़ना सिखाया और एक आदर्श पत्नी की तरह बाने भी गांधी जी का हर एक काम में साथ दिया |

चल 1885 में गांधीजी की पहली संतान ने जन्म लिया लेकिन कुछ समय बाद ही उस संतान का निधन हो गया  था | महात्मा गांधी के 4 बेटे हरीलाल गांधी, रामदास गांधी, देवदास गांधी और मनीलाल गांधी थे. हरीलाल गांधी के सबसे बड़े बेटे थे |

महात्मा गांधी की मृत्यु (death of mahatma Gandhi in Hindi)

महात्मा गांधी जी की मृत्यु गोली लगने की वजह से हुई थी | 

30 जनवरी 1948 को शाम 5:00 बजे करो 17 मिनट पर नाथूराम गोडसे और उनकी सहयोगी गोपाल दास ने बिरला हाउस में गांधी जी  की गोली मारकर हत्या कर दी थी |

गांधीजी को तीन गोलियां उनके सीने में मारी गई थी, अंतिम समय में उनके  मुख से ‘ हे राम’ शब्द निकले थे | गांधी जी की मृत्यु के बाद नई दिल्ली के राजघाट पर उनका समाधि स्थल बनाया गया  था |

जहां पर आज भी लोग गांधीजी को याद करने के लिए जाते हैं | 

इन्हें भी पढ़ें

Mahatma Gandhi biography in Hindi : Conclusion

मुझे आशा है कि आपको यह very short biography of mahatma Gandhi in Hindi पसंद आई होगी | अगर आपको यह Mahatma Gandhi Biography in Hindi पसंद आई हो तो इसे अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें | Mahatma Gandhi Biography in Hindi Mahatma Gandhi Biography in Hindi

क्या आप Blogging  सीख कर पैसा कमाना चाहते हैं,  तो इस वेबसाइट पर जरूर विजिट करें जहां पर आपको Blogging की सारे Knowledge दिए जाएंगे => Blogging Course In Hindi