महात्मा गांधी पर निबंध | Mahatma Gandhi essay in Hindi

महात्मा गांधी निबंध | Mahatma Gandhi essay in Hindi: हेलो दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi essay in Hindi) | यह एक छोटा और बहुत आसान निबंध है जिसे आप अपने Home work के लिए  उपयोग कर सकते हैं | 

महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi essay in Hindi)

महात्मा गांधी का असली नाम  मोहनदास करमचंद गांधी था | उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था| उनका जन्म एक प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था|

उनके पिता का नाम करमचंद गांधी और उनके माता का नाम पुतलीबाई था | महात्मा गांधी के पिता पोरबंदर और राजकोट के दीवान थे  और उनकी माता एक ग्रहणी थी |

गांधी जी की माता एक धार्मिक महिला थी जिन्होंने ही गांधी जी को सत्य और अहिंसा का पाठ दिखाया था | 

महात्मा गांधी का प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर के स्थानीय विद्यालय में हुआ| वह एक औसत दर्जे के विद्यार्थी थे |

गांधीजी ने मिडिल स्कूल तक की पढ़ाई पोरबंदर में की और बाकी राजकोट में  क्योंकि उनके पिता का ट्रांसफर राजकोट में हो गया था | 

इंटरेस्ट एग्जाम पास करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए  वह इंग्लैंड चले गए|

इंग्लैंड में उन्होंने बैरिस्टर की योग्यता हासिल की|  इंग्लैंड प्रवास के दौरान वह अपने चरित्र के प्रति बहुत सचेत रहते थे| 

भारत लौटकर मुंबई हाई कोर्ट में उन्होंने वकालत शुरू की | एक मामला के संदर्भ में वे दक्षिण अफ्रीका के नटाल गए | वहां उन्हें अपने मुवक्किल के केस की पैरवी करनी थी |

वहां उन्होंने भारतीयों को दयनीय अवस्था में देखा | दक्षिण अफ्रीका के यूरोपियन निवासियों द्वारा उनका बहुत अपमान किया जाता था | 

उन्होंने अफ्रीका में नेटल इंडियन कांग्रेस की स्थापना की | भारतीय लोगों का शोषण करने वालों के विरुद्ध उन्होंने एक आंदोलन चलाया |

महात्मा गांधी पर निबंध  Mahatma Gandhi essay in Hindi
महात्मा गांधी पर निबंध Mahatma Gandhi essay in Hindi

उन्होंने सत्याग्रह नामक एक अस्त्र का प्रयोग किया | इस आंदोलन के लिए उन्हें जेल की सजा भी भुगतनी पड़ी, लेकिन इच्छाशक्ति के साथ किए गए उनके प्रयास को विजय प्राप्त हुई |

दक्षिण अफ्रीका में किए गए सफल आंदोलन से पूरे विश्व में उनकी पहचान बनी | भारत आकर बिहार में नीलहो के खिलाफ उन्होंने अपनी गतिविधियों को जारी रखा है |

उन्होंने अपना आंदोलन मोतिहारी से शुरू किया और उन्हें यहां भी सफलता मिली |इसके बाद उन्होंने अंग्रेजी शासन के विरुद्ध आंदोलन शुरू किया |

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का उन्होंने नेतृत्व किया और देश की स्वतंत्रता के लिए उन्होंने अनेक संघर्ष किए | उनके कुशल नेतृत्व में राष्ट्र ने अपने लक्ष्य को प्राप्त किया |

महात्मा गांधी एक महान राजनीतिज्ञ और संत थे | सत्य और अहिंसा उनके प्रमुख हथियार थे | गीता की शिक्षा और उन में दिखाएं गए मार्ग उनके जीवन के आदर्श थे |

महात्मा गांधी दृढ़ इच्छा शक्ति के व्यक्ति थे | संपूर्ण राष्ट्र ने उनके मार्ग का अनुसरण किया और उन्होंने भारत को स्वतंत्र कराया |  स्वतंत्र भारत में उन्हें राष्ट्रपिता का दर्जा दिया गया |

महात्मा गांधी को हम प्यार से बापू  भी कहते हैं |

30 जनवरी 1948 को नथुराम गोडसे द्वारा महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई | वह हमारे बीच भौतिक रूप से मौजूद नहीं है लेकिन सच्चे भारतीयों के मन में वह आज भी जीवित हैं | 

हर साल 2 अक्टूबर को पूरी दुनिया में उनका जन्मदिन आज भी मनाया जाता है | यह  सबने स्वीकार किया है कि केवल गांधी का मार्ग ही दुनिया को बचा सकता है | जो है सत्य और अहिंसा का मार्ग | 

इन्हें भी पढ़ें

Mahatma Gandhi essay in Hindi : Conclusion

मुझे आशा है कि आपको यह  महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi essay in Hindi) पसंद आया होगा | अगर आपको यह महात्मा गांधी पर निबंध  पसंद आई हो तो इसे अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें | 

क्या आप Blogging  सीख कर पैसा कमाना चाहते हैं,  तो इस वेबसाइट पर जरूर विजिट करें जहां पर आपको Blogging की सारे Knowledge दिए जाएंगे => Blogging Course In Hindi